जकरबर्ग ने बिल गेट्स के साथ अपना 40वा बर्थडे सेलीब्रेट किया, अपनी जिंदगी के खास पलों की फोटो भी शेयर की

Photo of author

Reported by Pankaj Yadav

Published on

Zuckerberg Birthday

Mark Zuckerberg Birthday: 14 मई को मेटा प्लेटफार्म के CEO मार्क जकरबर्ग पूरे 40 वर्ष की उम्र के हो चुके है। अपने बर्थडे को उन्होंने फैमिली एवं फ्रेंड्स के साथ टाइम बिताकर सेलिब्रेट किया है। जकरबर्ग की धर्मपत्नी प्रिसिला चान ने उनके लिया एक खास बर्थडे की पार्टी का आयोजन भी किया। खास बात यह रही कि पार्टी में माइक्रोसॉफ्ट के निर्माता बिल गेट्स भी मौजूद थे।

पार्टी हो जाने पर जकरबर्ग ने पार्टी से जुड़ी फोटोज को भी शेयर किया है। वो फोटोज में बिल गेट्स के साथ किसी कॉलेज के कमरे में नजर आते है। बर्थडे पर यह कमरा उसी प्रकार से तैयार किया गया था जैसे कि जकरबर्ग के फेसबुक शुरू करने पर था।

Table of Contents

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

जकरबर्ग और बिल गेट्स साथ दिखे

मार्क जकरबर्ग एवं बिल गेट्स दोनो ने ही हावर्ड विश्वविद्यालय से ही अपनी शिक्षा ली है। अपने बर्थडे पर पोस्ट की गई फोटो में जकरबर्ग और बिल गेट्स दोनो ही एक ही साथ बैठे हुए है। यहां जकरबर्ग चेयर पर और गेट्स काउच पर बैठे दिखाई देते है और दोनो ने सामान्य कपड़ो को पहना है। अन्य फोटोज में जकरबर्ग की जिंदगी से खास टाइम को दर्शाने का प्रयास किया गया है। इसमें उनके बचपन के बेडरूम, लॉचडाउन का कार्यालय एवं पिनोचिओ पिज्जेरिया भी तैयार किया है।

बचपन से ही कंप्यूटर में इंटरेस्ट

जुकरबर्ग की बात करे तो वो कॉलेज के दिनों में ड्रॉपआउट भी रह चुके है। किंतु उनमें शुरू से ही कंप्यूटर के लिए काफी जुनून था। महज 12 वर्ष की आयु में उनने जुकनेट नामक कंप्यूटर प्रोग्राम को बनाया था। वो अपने इस सॉफ्टवेयर की सहायता से पिता के अस्पताल के कर्मियों से बातचीत कर पाते थे। जकरबर्ग ने मशहूर फेसबुक की शुरुआत हॉवर्ड विश्वविद्यालय में अपने हॉस्टल रूम से मित्रो डीउस्टिन मोस्कोवीटज, एडुआर्ड़ो सवेरिन और क्रिस ह्यूज की मदद से की थी। उन्होंने शुरू में इस वेबसाइट का नाम “द फेसबुक डॉट कॉम” रखा था।

23 साल में ही बने अरबपति

सिर्फ 23 साल की आयु में ही जकरबर्ग अरबपति बन चुके थे और कंपनी के सहकर्मी उनके लिए जूक नाम को इस्तेमाल में लाते थे। साल 2004 में उन्होंने फेसबुक नाम की वेबसाइट शुरू की थी जिसमे लोग खाते शुरू करके अपने फोटो को भी पोस्ट कर पाते थे। इसी साल वो कॉलेज ड्रॉप करके अपना पूरा टाइम फेसबुक के काम को देने लगे। उनके परिश्रम से ही फेसबुक को सालभर में ही 1 मिलियन यूजर्स मिल गए।

2005 में वेंचर कैपिटल एक्सेल के द्वारा फेसबुक में 12.7 मिलियन डॉलर्स का इन्वेस्टमेंट भी हुआ। फेसबुक की सफलता को देखकर टाइम पत्रिका ने साल 2010 में जकरबर्ग को पर्सन ऑफ द ईयर एवं प्रसिद्ध फोर्ब्स पत्रिका ने विश्व के ताकतवर व्यक्तियों की सूची में जगह दी थी। इस समय फेसबुक के विश्व भर में 2.6 मिलियन से अधिक यूजर्स है।

यह भी पढ़े:- हमारे कश्मीर का विकास देखकर PoK में बवाल शुरू हुआ, पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के हिंसक प्रदर्शन पर बोले एस. जयशंकर

भारत से भी है खास रिश्ता

एक दौर ऐसा भी था कि फेसबुक कंपनी कुछ मुश्किलों में आ गई थी। उस समय पर जकरबर्ग को भारत आकर ही आगे की प्रेरणा मिली थी। तब जकरबर्ग भारत के पर्वतीय राज्य उत्तराखंड के नीम किरोली बाबा के आश्रम गए थे। यहां पर करीब 1 माह का समय शांति में बिताकर उनको अनुभव हुआ कि लोगो को जोड़ने का काम ही उनको सुख दे सकेगा।

Leave a Comment

हमारे Whatsaap चैनल से जुड़ें