रफाह में कार्यवाही जारी रखते हुए नेतान्याहू ने हमास के पूरे खात्मे की बात कही, अमेरिकी सांसद ने इजराइल को परमाणु हमले की सलाह दी

Photo of author

Reported by Pankaj Yadav

Published on

Israel–Hamas War: मिस्र की बाउंड्री पर मौजूद राफा सिटी के पूर्व वाले हिस्से पर इजरायली टैंक ज्यादा भीतर तक जा चुके है। इस क्षेत्र में इस समय भी युद्ध चल रहा है। हमास एवं दूसरे जिहादी ग्रुप का दावा है कि उन लोगो के लड़ाके जबालिया में इजराइल की आर्मी से संघर्ष जारी रखे है। दोनो ओर से जारी संघर्ष में इस समय तक मरने वाले फलस्तीनियों की संख्या 35,173 तक हो गई है।

इजराइल के साथी देशों के चेतावनी देने के बावजूद इजराइल की आर्मी रफाह में अपना मिशन आगे बढ़ा रही है। यहां आर्मी की मुठभेड़ हमास के लड़ाकों से हो रही है और इजरायल ने जानकारी दी है कि इस क्षेत्र में हमास की 4 बटालियन स्थित है। आर्मी द्वारा दी गई चेतावनियो के बाद रफाह शर से 4.50 लाख फलस्तीनी भी जा चुके है।

Table of Contents

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

हमास का पूरा सफाया करके दम लेंगे

इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने भी रफाह में सैनिक कार्यवाही का आश्वासन दिया है। नेतन्याहू मेमोरियल डे पर बोलते हुए कह रहे थे कि वो हमास के खात्मे के बाद ही चैन की सांस लेंगे और इस काम में हर कीमत चुका सकते है। साथ ही पीएम ने हमास द्वारा बंदी बने लोगो को भी हर स्थिति में लाने पर भी प्रतिबद्धता जताई। उनके अनुसार गाजा में मरे आधे मृतक हमास के लड़ाके थे और आम नागरिक की मौत की संख्या गलत है।

अमरीकी सीनेट ने परमाणु बम हमले को कहा

इजराइल और हमास बीते 7 माह से लड़ रहे है और अभी अमेरिकी रिपब्लिक पार्टी के सीनेटर लिंडसे ग्राहम ने डरा देने वाली बात कही है। वो इस लड़ाई की तुलना दूसरे वर्ल्ड वॉर से करते हुए कहते है कि जैसे लड़ाई की समाप्ति अमेरिका के जापान पर परमाणु बम डालने से हुई थी, उसी तरह इजराइल को गाजा पर एटम बम डालना चाहिए। साथ ही वो इजराइल को और बम दिए जाने की बात भी कहते है। एक यहूदी देश की तरह से इजराइल को अपने अस्तित्व की रक्षा को लेकर सभी कुछ करना चाहिए।

हिजबुल्ला का भी इजराइल पर अटैक

हमास और इजरायल के युद्ध में हिजबुल्ला भी कूद पड़ा है। खबरे है कि लेबनान का यह हथियार बंद ग्रुप एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल से अटैक कर चुका है और इसमें 1 इजरायली आम नागरिक समेत 5 सिपाही भी थोड़े हताहत हुए है। इजरायली आर्मी ने बताया कि 14 मई के दिन लेबनान की तरफ से इजराइल के उत्तर में मौजूद एडमिट इलाके की तरफ काफी एंटी टैंक मिसाइल छोड़ी है। इजराइल के फाइटर जेट ने भी लेबनान के दक्षिणी भाग के अयता राख शब एवं कफरकेला इलाके में मौजूद हिजबुल्ला के अड्डों पर जवाबी हमले किए है।

अमरीका से इजराइल को और बम मिलेंगे

अमरीका की कांग्रेस कर्मियों ने बताया कि 14 मई को तय हथियारों के पैकेज के अंतर्गत टैंक गोला-बारूद को लेकर 70 करोड़ डॉलर, गाड़ियों के लिए 50 करोड़ डॉलर एवं मोर्टार को लेकर 6 करोड़ डॉलर की राशि तय की गई है। इन्होंने बिना नाम दिए ही ये खबर जारी की है। इससे पहले अमरीका ने इसी माह में 2 हजार पाउंड दर के 3,500 बमों के जखीरे को रोक लिया था।

UN ने गाजा में मरने वालो का आंकड़ा दिया

यूनाइटेड नेशन में मानवीय केसों के समन्वय ऑफिस के मुताबिक, गाजा में इजराइल की कार्यवाही से 4.959 महिलाओ एवं 7,797 बच्चो की मौत हुई है। दूसरी तरफ गाजा के हेल्थ डिपार्टमेंट के मुताबिक 7 अक्टूबर से 6 मई 2024 के बीच 9,500 महिलाओ एवं 14,500 बच्चो की मौत हुई है।

यह भी पढ़े:- पोस्ट ऑफिस के साथ मिलकर बिजनेस करने का शानदार मौका, सिर्फ 5 हजार रुपए के निवेश से बिजनेस की शुरुआत होगी

15 मई को फलस्तीन का “नकबा” दिवस

15 मई को फलस्तीन नकबा की 76वीं सालगिराह मनाएगा। अरबी कैलेंडर के हिसाब से साल 1948 में आज के दिन बंदूक के जोर पर 7 लाख फलस्तीनी नागरिकों को उनके घरों से हटाया गया था। उनके हिस्से की ही धरती पर इजराइल राष्ट्र बना था। फलस्तीनियों को शरणार्थी की तरह से गाजा एवं वेस्ट बैंक में रहना पड़ा है। यह एक दुखद घटना है जिसको “नकबा” के रूप में मनाते है।

Leave a Comment

हमारे Whatsaap चैनल से जुड़ें